Randi sayri/shayari – शायरी ऐसी जो सोच बदल दे

Randi sayri/shayari की ये पोस्ट हमने gndi shayari या dirty shayari खोंजने वाले पाठको के लिए नहीं लिखी है। बल्कि ये randi shayari हमने हर उस लड़की के दर्द को बयां करने के लिए लिखी है जो किसी मजबूरी या समाज के अत्याचारों की वजह से रंडी बनी है।

हम समाज में इनकी इज्जत रोज उतारते है और इनको सबसे निचला दर्जा देते है जबकि बात जब हमारे पे आती है तो हम इन्हें अपनी जागीर समझकर रखते है। हमारे लिए हर वो लड़की रंडी कहलाती है जो दो चार लड़कों से दोस्ती रखती हो, हर वो लड़की slut की श्रेणी में आती है जो किसी और के लिए किसी का प्यार ठुकरा देती हो।

randi sayri– galat koun hai wo ya hum

randi sayri image
randi sayri on her pain in society

मैं तो बस रास्ता थी उनकी.
मुझे रौंदकर वो मंजिल हासिल कर गये..!

randiyo ko liye shayari
Shayari on randi

sayri on randi in hindi

मेरे ज़रा से कपडे क्या छोटे हुए
जवानों ने तो अपनी सोच ही गिरा ली।

अकेले मर जाना ए-दोस्त !!


प्यार का जुनून ऐसा था कि ,
घरवाले की भी परवाह ना कि
आज कोठे पर होती हर दस्तक को
अपने मेहबूब का तोहफा समझती हूं।

Majburi shayari
Majburi lines on randi

कुछ हालात की मजबूरियां होती है साहब
वरना यू ही कोई लड़की रंडी बनने का सपना नहीं देखती।


असली इज्जतदार तो तवायफ ही होती है,
जो किसिके पास खुद नहीं जाती बल्कि
हजारों इज्जतदार खुद उसके देहलीज पर आते है।

मेरी मौत पर किसी को अफसोस हो न हो ए-दोस्त,


एक साथ चार लड़कियां घुमाने वाले लड़के
मुझे मेरे दोस्तो के साथ देखकर बेवफा केहते है।


वो लोग भी हमे रंडी कहते है,
जिन्हे बुरखे में भी लड़कियां कमाल लगती है।


आजकल लड़के चाहे जो करे जैसे भी कपड़े पहने पर अगर किसी नारी ने छोटे कपडे पहन लिए तो सारी बड़ी बड़ी मर्द की नज़रे ठहर जाती है और हर किसी के दिमाग में यहीं ख्याल आता है कि क्या चीज़ है??….🙏🙏🙏

kisi ladki ko randi kehne se pehle soche?

समाज की कुछ ऐसी ही बातों पर हमारा ये पोस्ट आधारित है और उस नारी के सम्मान के लिए है ,जो समाज और कुछ लोगो द्वारा randi का टैग दिए जाने के बावजूद भी निरंतर हमारे समाज और हमारे देश का नाम रोशन कर रही है।

Sayri on रंडी
bold powerful girls attitude line

रंडी हूं शाहब !! जिस्म बेचा है
ज़मीर बेची होती तो आपकी जगह होती।


रंडी एक शब्द नहीं , रंडी एक गाली है,
जिसे ये समाज हर उस लड़की को देता है
जिसकी ज़रा सी आजादी बर्दाश्त ए नकाबिल हो जाती है।


अगर रंडी बनना उसकी गलती थी,
तो उसको रंडी बनते हुए देखना हमारी विफलता।


randi ki sayri
Randi ki baat shayari ke sath

इज्जत ए आबरू की परवाह ना की मैने
आज समाज की हर जिल्लत को हस कर सेहती हूं मै।

Shayri on randi
randi shayari

सहती रही हर उस इल्जाम को चुपचाप
क्या पता था मर्द के झूठे प्यार की सजा
औरत को ज़िन्दगी भर भुगतनी पड़ती है।


we hope you find these lines true and reflection of our society on some unprivileged women’s. Our motive is to change at least something in our society so that’s women’s don’t need to prove themselves at every point.

Leave a Reply

Your email address will not be published.